दीपक तले अंधेरा वाली कहावत चरितार्थ कर रहा है ब्लाक के रास्ते पर बना यह गड्ढा
जिला प्रभारी विमल मिश्रा की रिपोर्ट
लखीमपुर खीरी।दीपक तले अँधेरा देखना हो तो आप सीधे जनपद की निघासन ब्लाक चले आइये।तस्वीर में सड़क पर दिख रहा बड़ा सा गड्ढा किसी गाँव गलियारे का नहीं है।बल्कि यह गड्ढा विकास खंड कार्यालय को जाने वाले दूसरे रास्ता है।यह वह रास्ता है जिसका प्रयोग ब्लाक मुख्यालय आने जाने के लिए यहां के कर्मचारी तो करते ही हैं साथ ही विभिन्न कामों से ब्लाक आने वाले आम लोग भी इससे आते जाते हैं।और खास बात तो यह कि ब्लाक का यह भले वैकल्पिक प्रवेश द्वार है पर ब्लाक परिसर में स्थापित पशु चिकित्सालय और सी ओ कार्यालय का यही मुख्य प्रवेश द्वार है।लेकिन इस प्रवेश द्वार के रास्ते पर बनी इस पुलिया का एक हिस्सा करीब दो तीन माह पहले क्षतिग्रस्त हो गया था।तब से लेकर आज तक यह ऐसे ही पड़ा है।किसी भी जिम्मेदार ने आज तक इसकी सुधि नहीं ली।यह गड्ढा आने जाने वाले लोगों की परेशानी का सबब बना हुआ है।दुर्घटना की आशंका भी बराबर बनी रहती है।लेकिन जिम्मेदार जानकर भी अनजान बने हुए हैं। जिस ब्लाक कार्यालय पर पूरे ब्लाक क्षेत्र में विकास कार्यों को संचालित करने की जिम्मेदारी है,वह खुद अपना घर ठीक नहीं कर पा रहा है।ब्लाक की विभिन्न दीवारों पर लिखा विकास शब्द इन हालातों में उपहास का पात्र बन गया है।गलती भले कोई दूसरा करे पर फजीहत तो इस विकास शब्द की ही होती है।लेकिन वह बेचारा तो मजबूर है।खुद पर शर्मसार होने के अलावा और वह कर भी क्या सकता है।