मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संत कबीर नगर जनपद में 125 करोड़ की लागत से निर्मित जिला कारागार का लोकार्पण किया।
दुर्गा दत्त मिश्र की रिपोर्ट
संत कबीर नगर 12 सितम्बर। प्रदेश के मा0 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने संत कबीर नगर जनपद में 125 करोड़ की लागत से निर्मित जिला कारागार का लोकार्पण किया। इस अवसर पर उन्होंने संत कबीर नगर जिले में मेडिकल काॅलेज बनाने की घोषणा किया। उन्होंने 220 करोड़ की 106 परियोजनाओं का लोकार्पण एवं 25 करोड़ की 16 परियोजनाओं को शिलान्यास किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि संत कबीर नगर जनपद गठित हुए 24 वर्ष हो गए लेकिन पूर्ववर्ती सरकारों ने इस जनपद के विकास के लिए कोई कार्य नहीं किया। उन्होंने कहा कि 24 साल बाद भी संत कबीर नगर के कैदी बस्ती जेल में रखे जा रहे थे। कारागार के प्रारंभ हो जाने पर अब संतकबीरनगर के कैदी यहीं पर रखे जाएंगे। उन्होंने कहा कि कारागार केवल अपराधियों को बंदी गृह की तरह नहीं बल्कि सुधार गृह की तरह रखेंगे तथा समय-समय पर उनका काउंसलिंग भी होगा। उन्होंने कहा कि यह भी सुनिश्चित किया जाएगा कि कारागार किसी भी दशा में अपराध का गढ़ ना बने और ना ही अपराधियों का मौज मस्ती केंद्र। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि विकास की धुरी बदली है। पूर्वाचल में जे0ई0 एवं ए0ई0एस0 सेे छुटकारा मिला है। पर्यटन विकास को गति मिली है। जिले के प्रसिद्ध बाबा तामेश्वरनाथ धाम को पर्यटन की दृष्टिकोण से विकसित किया जा रहा है। कोरोना महामारी पर प्रभावी नियत्रंण किया गया है इसके लिए उन्होंने सभी डाक्टर एवं पैरा मेडिकल स्टाफ अधिकारी, कर्मचारी और जनता को अनुशासन का परिचय देने के लिए धन्यवाद भी दिया है। उन्होंने कोरोना के कारण दिवंगत हुए लोगो के परिवारो के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि ऐसे निराश्रित बच्चों के भरण पोषण के लिए कार्य किया जा रहा है। ऐसे निराश्रित महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए हम शीघ्र ही एक नई योजना लायेगें। उन्होंने कहा कि मिशन शक्ति कार्यक्रम गाॅव-गाॅव पहुॅच रहा है। मा0 प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के सपनों को साकार करते हुए ‘बेटी बचाओ बेटी पढाओं’ अभियान चलाया जा रहा है। महिलाएं स्वाभिमान के साथ आत्मनिर्भर बन रही है। कन्या सुमंगला योजना के तहत बच्चियों को 6 बार में कुल 15 हजार की धनराशि दी जा रही है। उन्होंने कहा कि कोरोना अभी खत्म नही हुआ और इससे सावधानी जरूरी है। युवाओं को प्रतियोगी परिक्षाओं में आने-जाने के लिए आवागमन भत्ता दिया जाएगा। अभ्युदय कोचिंग के माध्यम से निःशुल्क परीक्षा की तैयारी कराई जा रही है। प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी समय से पूरी हो सके इसके लिए सरकार युवाओं को टैबलेट प्रदान करेगी तथा डिजिटल एक्सेस की सुविधा प्रदान करेगी। उन्होंने कहा कि संत कबीर नगर में बखिरा में बर्तन उद्योग को बढावा देने के लिए ‘एक जनपद एक उत्पाद’ योजना में चयनित किया गया है। इसको विश्व पटल पर लाने के लिए सरकार प्रयास करेगी। जिले में रेडिमेड गारमेन्ट का हब बन सकता है। इसके लिए आधुनिक मशीनों की उपलब्धता कराई जाएगी। रेडिमेड गारमेंट गोरखपुर, बस्ती मण्डल के साथ-साथ देश की माॅर्केट में पहुचे ऐसी माॅर्केटिंग की व्यवस्था बनाई जाएगी। उन्होंने कहा कि किसानों की आय दोगुनी करने के लिए कृषि के साथ-साथ बागवानी, पशुपालन, दुग्ध, मत्स्य पालन को भी बढावा दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस वर्ष बरसात अधिक होने से प्रदेश के 17 जनपदों में बाढ आई है। मैने स्वयं कई जनपदों का भ्रमण करके बाढ़ पीड़ितों को सहायता पहुचाई है। उन्होंने जनप्रतिनिधियों से अपील किया कि वे अपने जनपदों में बाढ पीड़ितों के बीच जाए तथा राशन किट उपलब्ध कराये साथ ही जलजनित रोगो के प्रति लोगो को जागरूक करें। उन्हे पेयजल के लिए क्लोरिंन की गोली वितरित कराये। उन्होंने कहा साॅप बिच्छु, कुत्ता, काटने की सुई सभी अस्पतालों को उपलब्ध कराई गयी है। कोई भी पीडित व्यक्ति इससे वंचित न रहें। मुख्यमंत्री जी ने इस अवसर पर मिशन शक्ति अभियान के अन्तर्गत स्थापित स्टाल का निरीक्षण किया। उन्होंने पुलिस विभाग द्वारा तैयार किये गये मिशन शक्ति पुस्तिका का विमोचन किया। उन्होंने कारागार में बंदी महिला के बच्चों-रिया, अनुराधा, महक अनन्या, मान्या को पोषाहार किट वितरित किया। जिसमें सूजी, देशी घी, चीनी, चावल, दलिया, अरहर की दाल, चना, बिस्कुट और सेलेरेक दिया गया। यहा पर छात्राओं द्वारा मार्सल आर्ट का प्रर्दशन भी किया गया। मुख्यमंत्री जी ने कृषि की यंत्रीकरण योजना के अन्तर्गत जय भारत तथा गुजराती देवी महिला स्वयं सहायता समूह की संकुन्तला देवी तथा प्रियंका को कृषि यंत्र प्रदान किया। उन्होंने सामुदायिक शौचालय के रख रखाव के लिए लक्ष्मी एवं सुधा, महिला स्वयं सहायता समूह की श्रीमती संजू देवी तथा श्रीमती सुधा देवी को रू0 27000/- का स्वीकृति पत्र प्रदान किया। उन्होंने विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के अन्तर्गत गरिमा पाठक, स्नेहा सिंह, रितु गुप्ता, श्रीमती देवंता, श्रीमती बंदना यादव को दर्जी का टूल किट प्रदान किया। उन्होंने शादी अनुदान योजना के अन्तर्गत श्रीमती विमला देवी, संगीता देवी, राजमती देवी, अमिना खातून, कुरेशा खातून को पुत्री की शादी के रू0 20-20 हजार का स्वीकृति पत्र प्रदान किया। मुख्यमंत्री जी ने मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के अन्तर्गत दिवंगत व्यक्तियों के नाबालिक बच्चों-कमलकांत राव, अयांश पाण्डेय, शक्ति पाण्डेय, कु0 साक्षी, हर्ष गोपाल, कृष्ण गोपाल, सौर्य, सौरभ, अमन, आशीष को शिक्षा, पोषण एवं भविष्य की सुरक्षा के लिए प्रत्येक को रू0 4 हजार रू0 की सहायता राशि का स्वीकृति पत्र प्रदान किया। उन्होंने कोरोना काॅल में मृतक 05 सरकारियों कर्मचारियों-सिचाई विभाग मंे प्रिति निषाद, माध्यमिक शिक्षा में मीरा देवी, ग्राम्य विकास में नीतु शुक्ला, राजस्व में आलोक कुमार पाण्डेय, अमर को नियुक्ति पत्र प्रदान किया। इस समारोह में कारागार एवं लोक सेवा प्रबंधन राज्य मंत्री जय कुमार जैकी ने सभी का स्वागत किया तथा कारागार में संचालित कार्यक्रमों के बारे में जानकारी दिया। इस अवसर पर सांसद प्रवीण निषाद, प्रदेश के राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार, उद्यान एवं कृषि विपणन श्रीराम चैहान, ने भी सम्बोधित किया। समारोह में प्रदेश के स्टाम्प राज्य मंत्री एवं जिले के प्रभारी रवीन्द्र जायसवाल, विधायक सदर दिग्विजय नारायण जय चैबे, विधाकय मेंहदावल राकेश सिंह बघेल, विधायक बस्ती दयाराम चैधरी, भाजपा जिलाध्यक्ष जगदम्बालाल श्रीवास्तव, मण्डलायुक्त गोविन्द राजु एन एस, आईजी अनिल कुमार राय, जिलाधिकारी दिव्या मित्तल, पुलिस अधीक्षक डा0 कौस्तुभ, पुलिस महानिदेशक कारागार आनन्द कुमार उपस्थित रहें। अंत में सभी के प्रति अपर मुख्य सचिव, गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने धन्यवाद ज्ञापित किया।