कई अफसरों के खिलाफ डीएम ने लिया सख्त एक्शन
जिला प्रभारी राजीव कुमार पांडेय की रिपोर्ट।
गाज़ीपुर। जिलाधिकारी एम पी सिंह की अध्यक्षता में कर-करेत्तर एंव मासिक स्टाफ बैठक राईफल क्लब सभागार में सम्पन्न हुआ। बैठक में जिलाधिरी ने कर-करेत्तर की समीक्षा के दौरान खनन,विद्युत एंव लोक निर्माण विभाग द्वारा लक्ष्य के सापेक्ष कम वसूली पर सख्त नाराजगी व्यक्त करते हुए कारण बताओ नोटिस जारी करने का निर्देश दिया। अधिशासी अधिकारी नगर पालिका गाजीपुर, मुहम्मदाबाद एंव जमानियां, नगर पंचायत बहादुरगंज, दिलदारनगर,सैदपुर,सादात को कम राजस्व वसूली पर स्पष्टिकरण मांगा तथा समस्त अधिशासी अधिकारियेां को प्रधानमंत्री स्व निधि योजना, प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना मे प्रगति लाने एंव अपने-अपने क्षेत्रो सड़को को गढ्ढा मुक्त कराने का निर्देश दिया। डी एफ ओ गाजीपुर द्वारा बिना अनुमति प्राप्त मुख्यालय छोड़ने तथा बैठक मे अनुपस्थित रहने पर स्पष्टिकरण का निर्देश दिया। बैठक में आपूर्ति विभाग की समीक्षा के दौरान तहसील सदर में 01 , जखनियां मे 02, सैदपुर में 02 तथा मुहम्मदाबाद में 02 सस्ते गल्ले की दुकानो का आवंटन समय पर न किये जाने के कारण नाराजगी वक्त करते हुए उपजिलाधिकारी सदर, जखनिया,सैदपुर एंव मुहम्मदाबाद, जिला पूर्ती अधिकारी एवं सम्बन्धित पूर्ती निरीक्षको से स्पष्टिकरण मांगा। बैठक में जिलाधिकारी ने चकबन्दी, व्यापार कर, विद्युत देय, आबकारी , औद्योगिक ऋण, बाट माप, बैक देय, परिवहन, मण्डी समिति, वन विभाग, स्टाम्प, नगर पालिका, आडिट आपत्ति, अंश निर्धारण, आईजीआरएस, मोटर देय, सिचाई, काउण्डर फाईल, के सम्बन्ध विस्तारपूर्वक समीक्षा की। समीक्षा के दौरान कम राजस्व प्राप्ति वाले विभागो के प्रति नाराजगी व्यकत करते हुए उन्होनें समस्त सम्बन्धित अधिकारियों को अपने लक्ष्य के प्रति प्रत्येक माह पूर्ण करने की कार्य योजना बनाकर मूर्त रूप प्रदान करने निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों का आह्वान करते हुए उन्हें निर्देश दिया कि राजस्व प्राप्ति के संबंध में जो विभाग कार्य कर रहे हैं उनके द्वारा अपने-अपने लक्ष्य को प्रत्येक माह उसे पूर्ण कर अंतिम रूप प्रदान किया जाए ताकि सभी विभागों में राजस्व प्राप्ति के लक्ष्य पूर्ण किए जा सकें। इसमें किसी भी स्तर पर लापरवाही एवं शिथिलता क्षम्य नहीं होगी। उन्होंने स्पष्ट किया है कि जिन विभागीय अधिकारियों के द्वारा अपने राजस्व लक्ष्यों की प्राप्ति नहीं की जाएगी उनके विरुद्ध कार्यवाही प्रस्तावित की जाएगी। जिसकी जिम्मेदारी स्वयं संबंधित विभागीय अधिकारी की होगी। इसके उपरांत जिलाधिकारी ने राजस्व विभाग के अधिकारियों के साथ मासिक स्टाफ बैठक ली। बैठक में जिलाधिकारी तहसील कासिमाबाद मे खतौनी के अधूरे कार्याे पर तहसीलदार कासिमाबाद एंव कलेक्ट्रेट नजारत में आडिट आपत्तियो को समयान्तर्गत प्रस्तुत न करने पर सम्बन्धित से स्पष्टिकरण मांगा। बैठक के दौरान उन्होने लंबित प्रकरण एवं विवादित, दाखिल खारिज 122बी0 में विवादित वादो का निस्तारण करने को कहा। जिलाधिकारी ने आडिट आपत्ती, व्यापार कर, परिवहन कर, बैंक देय, तथा जनपद के बडे बकायादारो के सम्बन्ध मे ंजानकारी ली, तथा उनसे वसूली करने तथा बकाया न देने वाले व्यक्तियों पर शासनात्मक कार्यवाही करने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि समस्त अधिकारी राजस्व वसूली का कार्य सर्वाेच्च प्राथमिकता के आधार पर करते हुए डिमांड के अनुसार वसूली सुनिश्चित करे। उन्होंने राजस्व वादों के निस्तारण में समीक्षा करते हुए राजस्व वादों के निस्तारण के संबंध में सभी पीठासीन अधिकारियों द्वारा शिकायतो का निस्तारण गुण एवं दोष के आधार पर कार्रवाई करते हुए सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने समस्त उप जिलाधिकारी, तहसीलदार एवं अन्य संबंधित राजस्व अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि राजस्व कार्यों में सभी अधिकारियों द्वारा सरकार की मंशा के अनुरूप चलाए जा रहे प्रत्येक कार्यक्रम में तत्परता दिखाते हुए कार्यों का संपादन किया जाना सुनिश्चित करें, ताकि सरकार की राजस्व योजनाओं का लाभ जन सामान्य को आसानी के साथ प्राप्त हो सके। बैठक में अपर जिलाधिकरी वि0रा0 राजेश कुमार सिंह, अपर जिलाधिकारी भू0रा0 सुशील कुमार श्रीवास्तव, एस ओ सी एस के शुक्ला, समस्त उपजिलाधिकारी, तहसीलदार, ई0ओ0 नगर पालिका/नगर पंचायत एवं सम्बन्धित अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित थे।