पूर्व सांसद राधेमोहन सिंह क्या सदर विधानसभा में चलाएंगे साइकिल*
जयंत यादव क्राइम रिपोर्टर सदर गाजीपुर।
सांसदी से लेकर जिला पंचायत सदस्‍य के चुनाव तक चर्चा में रहे पूर्व सांसद राधेमोहन सिंह एक बार फिर चर्चा में आ गये हैं। यह चर्चा सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव और राधेमोहन सिंह के राजधानी में हुए मुलाकात को लेकर है। दो बार से किसी कारणों से राधेमोहन सिंह का टिकट समाजवादी पार्टी से कट जा रहा है। पहली बार 2014 के लोकसभा चुनाव में पूर्व मंत्री विजय मिश्रा व कुछ दिग्‍गज नेताओं के गणित से राधेमोहन सिंह का टिकट हाईकमान ने काट दिया और शिवकन्‍या कुशवाहा पर दाव लगाया लेकिन इस चुनाव में बीजेपी के उम्‍मीदवार मनोज सिन्‍हा लगभग 32 हजार मतों से विजयी रहे। इसके बाद 2019 के लोकसभा चुनाव में सपा-बसपा गठबधंन के चलते यह सीट बसपा के खाते में चली गयी और अफजाल अंसारी सांसद हो गये। करीब दस सालों से जनप्रतिनिधि की कुर्सी से दूर रहने के बाद अब राधेमोहन सिंह ने भाजपा के अंदरुनी कलह को देखते हुए सदर विधानसभा पर दावा ठोका है। सूत्रों के अनुसार सपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष से पूर्व सांसद राधेमोहन सिंह की मुलाकात इसी कड़ी में हुई है।