हाई ग्रेड फीवर के मरीजों का विशेष ध्यान रखें डॉक्टर-डीएम
कमलाकर मिश्न की रिपोर्ट
देवरिया -जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने गूगल मीट के माध्यम से स्वास्थ्य विभाग की दैनिक समीक्षा बैठक की। समीक्षा बैठक के दौरान उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को डेंगू, मलेरिया और एईएस जैसे संचारी रोगों की रोकथाम हेतु विशेष प्रयास करने का निर्देश दिया और कहा कि स्वास्थ्य केंद्रों पर आने वाले बुखार के सभी रोगियों को चिकित्सीय परामर्श उपलब्ध हो। जिलाधिकारी ने कहा कि मौसम में बदलाव के साथ बुखार के मामले बढ़ रहे हैं। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग को विशेष सतर्कता बरतने की आवश्यकता है। स्वास्थ्य केंद्र पर आने वाले हाई ग्रेड फीवर के मरीजों की विशेष निगरानी की जाए और जांचोपरांत उन्हें उचित चिकित्सकीय परामर्श एवं दवा उपलब्ध कराई जाए। जिलाधिकारी ने मलेरिया अधिकारी को डेंगू के लार्वा नियंत्रण के कार्य को तेज करने का निर्देश दिया। जिन क्षेत्रों में मच्छरों का प्रकोप अधिक है वहां फागिंग की नियमित रूप से निगरानी करने का निर्देश भी संबंधित स्थानीय निकायों को दिया गया। जिलाधिकारी ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के पास संसाधन पूरे हैं और टेस्टिंग किट एवं दवाई की कोई कमी नहीं है। जिलाधिकारी ने 27 तारीख को होने वाले कोविड-19 वैक्सीनेशन के मेगा कैंप की तैयारियों की भी समीक्षा की। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के सभी अधिकारी निर्धारित लक्ष्य की प्राप्ति हेतु पूरा प्रयास करें जिससे कि कोविड-19 की तीसरी संभावित लहर से पूर्व ही जनपद के निवासियों को वैक्सीनेट कर सुरक्षित किया जा सके उन्होंने कहा कि जिन नागरिकों को दूसरा डोज नहीं लगा है, उन्हें मेगा कैंप में विशेष रूप से जोड़ा जाए। समीक्षा बैठक के दौरान मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर आलोक पांडेय ने जिलाधिकारी को अवगत कराया कि जनपद में चिकित्सारत तीनों कोविड-19 के मरीजों में बीमारी के कोई लक्षण नहीं है और शासन द्वारा निर्धारित मानकानुसार उन्हें होम आइसोलेशन की सभी सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं। समीक्षा बैठक में एसीएमओ डॉ सुरेंद्र सिंह, डॉ राजेंद्र कुमार, डॉ अंकुर सांगवान, डॉक्टर गुलजार त्यागी, डॉक्टर राजेश सहित स्वास्थ्य विभाग के विभिन्न अधिकारी मौजूद थे।