एम्बिशन इंस्टीट्यूट एंड कोचिंग क्लासेज द्वारा शिक्षक दिवस पर किया "अनोखी सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता" का आयोजन
बैजनाथ यादव की रिपोर्ट
*विद्यार्थियों ने केक काट, मिठाई खिलाकर शिक्षकों से लिए सफल होने का आशीर्वाद*
गोरखपुर कैम्पियरगंज के मोदीगंज रोड स्थित अनोखी ट्रस्ट द्वारा संचालित एम्बिशन इंस्टीट्यूट एंड कोचिंग क्लासेज में धूमधाम से शिक्षक दिवस मनाया गया।देश के प्रथम उपराष्ट्रपति व दूसरे राष्ट्रपति डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्मदिन के अवसर पर इंस्टीट्यूट द्वारा बच्चों के मानसिक विकास के लिए अनोखी सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।उसके बाद डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के चित्र के सामने दीपप्रज्वलन, माल्यार्पण, केक काटकर इंस्टीट्यूट के विद्यार्थियों और शिक्षकों ने कार्यक्रम का शुभारंभ किए। कार्यक्रम के दौरन विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए इंस्टीट्यूट के संस्थापक अरविंद चौरसिया ने कहा कि शिक्षक एक बच्चे के मानसिक विकास के पीछे पावरफुल शक्ति हैं, खासकर जब वो विकासशील (किशोरावस्था) वर्षों में हों। शिक्षक या मार्गदर्शक शिक्षा की क्वालिटी और किसी के भविष्य को आकार देने में सबसे प्रभावशाली भूमिका निभाते हैं।वो न केवल सिखाते हैं बल्कि बच्चों को जीवन में आने वाली चुनौतियों से निपटने के लिए प्रेरित और प्रोत्साहित करते हैं। क्योकि युवा देश का भविष्य है, इसलिए शिक्षक की भूमिका और भी महत्वपूर्ण हो जाती है क्योंकि वो न केवल एक व्यक्ति को अपने पैरों पर खड़ा करने में सक्षम बनाते हैं बल्कि एक राष्ट्र को भी आकार देते हैं। शिक्षकों को कई भूमिकाएं निभानी होती हैं और उनका एक्सपीरियंस उन्हें एक अच्छा मेंटर बनाती है। कार्यक्रम समाप्ति में बाद अनोखी सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता के पहले विजेता अरविंद निषाद दूसरे विजेता नव्या मौर्या और तीसरे विजेता मोनी चौधरी को विजेता ट्राफी और नकद पुरस्कार इंस्टीट्यूट द्वारा दिया गया। इस मौके पर कोचिंग क्लासेज के शिक्षक धर्मेन्द्र विश्वकर्मा, रामकुमार विश्वकर्मा, घनश्याम मौर्या, विंध्याचल वर्मा,राजू निषाद,प्रवीण कुमार के साथ इंस्टीट्यूट और ट्रस्ट के सदस्यों के साथ दर्जनों छात्र और छात्राएं मौजूद रहें।दूसरी तरफ शिक्षक दिवस रविवार के दिन पड़ने के कारण अधिकतर विद्यालयों पर विद्यार्थियों के नही पहुचने के कारण शिक्षक दिवस नही मनाया गया।