नोडल अधिकारी ने ग्राम सिधुआ में लगायी चौपाल
कमलाकर मिश्र की रिपोर्ट
देवरिया -शासन द्वारा नामित नोडल अधिकारी एवं सचिव, उच्च शिक्षा शमीम अहमद खान ने जनपद प्रवास के दौरान आज ग्राम सिधुआ में चौपाल लगाकर ग्रामीण विकास की वास्तविक स्थिति परखी और ग्रामीणों की समस्याएं सुनी। उन्होंने अधिकारियों को जनता की शिकायत समयबद्ध तरीके से निस्तारित करने का निर्देश दिया। नोडल अधिकारी ने कहा कि शासन की मंशा के अनुरूप समाज के अंतिम व्यक्ति तक राज्य सरकार की योजनाओं का लाभ पहुंचना चाहिए। नोडल अधिकारी ने लोगों से कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करने की अपील की और कहा कि मास्क और वैक्सीनेशन द्वारा इससे बचा जा सकता है जा सकता है। जन समस्याओं को सुनने के दौरान कुछ ग्रामीणों ने लो-वोल्टेज और खराब ट्रांसफार्मर की शिकायत की, जिसे नोडल अधिकारी ने मौके पर ही निस्तारित करने का निर्देश दिया। साथ ही उन्होंने ग्रामीणों से बिजली का बिल समय से जमा करने का करने की अपील भी की। नोडल अधिकारी ने ग्राम सिधुआ में दिव्यांग कल्याण अधिकारी को दिव्यांग जनों की शिकायतों का निस्तारण करने के लिए 10 दिन के भीतर कैंप लगाने का निर्देश दिया।कुछ ग्रामीणों ने राशन कार्ड न होने की शिकायत की जिस पर नोडल अधिकारी ने जिला खाद्य पूर्ति अधिकारी को शिकायतों को समयबद्ध तरीके से निस्तारित करने का निर्देश दिया। ग्राम चौपाल के दौरान नोडल अधिकारी ने पीएम आवास योजना, मनरेगा ,सहित विभिन्न सरकारी योजनाओं की वास्तविक प्रगति की स्थिति ग्रामीणों से जानी। इस दौरान उन्होने बाल विकास विभाग की संचालित अन्नप्राशन कार्यक्रम के तहत 5 महिलाओं के गोदभराई की एवं उन्हे पोष्टिक आहार प्रदान किया।चौपाल स्थल पर ही स्वास्थ्य विभाग द्वारा टेस्टिंग कैम्प का आयोजन किया गया था । साथ ही आयुष्मान भारत की गोल्डन कार्ड योजना बनाने के लिए कैंप लगाए रहते हैं। नोडल अधिकारी द्वारा वृक्षारोपण भी किया गया। इसके बाद नोडल अधिकारी ने सिधवा ग्राम में स्थित निर्माणाधीन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण किया जहां कुछ ग्रामीणों ने डॉक्टर और नर्सिंग स्टाफ के शीघ्र तैनाती की मांग की, जिस पर नोडल अधिकारी ने मौके पर मौजूद मुख्य चिकित्सा अधिकारी को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। इस अवसर पर जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन, मुख्य विकास अधिकारी रवींद्र कुमार, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर आलोक पांडेय सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे।