डीबीटी फिडिंग के दबाव को लेकर शिक्षकों में आक्रोश
कृपाशंकर यादव
गाजीपुर-बेसिक शिक्षा परिषद की तरफ से परिषदीय विद्यालयों में कार्यरत प्रधानाध्यापकों, सहायक अध्यापकों, शिक्षामित्रों व अनुदेशक से सत्र 2021-22 में विद्यालय स्तर पर डीबीटी की फीडिंग हेतु निर्देश जारी किया गया है,जिसमें परिषदीय विद्यालयों मे कार्यरत शिक्षकों से एक निर्धारित अवधि में सभी छात्रों का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, वेरीफिकेशन और आधार अपलोड तत्काल स्तर पर न होने की दशा में कड़ी कार्यवाही करने की संस्तुति की जायेगी। जबकि पूरे प्रदेश में सभी परिषदीय विद्यालयों में इंटरनेट तथा अन्य संसाधनों का अभाव है। उक्त परिस्थिति में डीबीटी फीडिंग हेतु बेसिक स्कूलों में पंजीकृत छात्रों के अभिभावकों के खाते में सीधे ड्रेस, जूता, मोजा, स्वेटर आदि का बजट भेजना कठिन है ।इसके लिए विभागीय अधिकारियों द्वारा लगातार शिक्षकों पर पंजीकृत विद्यार्थियों का डाटा फीड करने के लिए मानसिक दबाव बनाया जा रहा है। इस मानसिक उत्पीड़न के विरोध में कई शिक्षक संगठन एकजुट होकर आर पार की लड़ाई लड़ने के मूड में हैं, जिस से शिक्षकों का उत्पीड़न रुक सके और उन्हें इस मानसिक दबाव से मुक्ति मिल सके।विदित हो कि पुर्व मे बेसिक शिक्षा मंत्री ने आनलाइन कार्य हेतु विद्यालयों मे समुचित संसाधनों की उपलब्धता सुनिश्चित कराने का आश्वासन दिया था। इस क्रम में कई संगठनों द्वारा महानिदेशक, सचिव इत्यादि को ज्ञापन विगत दिनों में प्रेषित किया जा चुका है, अन्यथा की स्थिति में संगठन आंदोलन हेतु बाध्य होगें।