विकासखंड मरदह में तैनात 5 सफाई कर्मचारी निलंबित मचा हड़कम्प
कमलेश कुमार की रिपोर्ट।
मरदह गाजीपुर।विकासखंड मरदह में तैनात 5 सफाई कर्मचारी निलंबित मचा हड़कम्प।मालूम हो कि बीते 5 अक्टूबर की रात में 4 सफाई कर्मचारियों की ड्यूटी ब्लॉक मुख्यालय प्रधान प्रशिक्षण हेतु सामग्री का रखरखाव के लिए लगाया गया था।उसी रात में एक अन्य सफाई कर्मचारी जो बिना ड्यूटी के ही ब्लाक मुख्यालय पहुंचा और पांचों ने मिलकर ब्लाक मुख्यालय पर जमकर शराब पी और मांस का सेवन किया।तथा रात में ही कार्यालय से पांचों सफाई कर्मी समान वितरित का 10 फोल्डर गायब कर दिया।इस मामले में सहायक विकास अधिकारी पंचायत नवीन कुमार सिंह ने पांचों सफाई कर्मी को कारण बताओ नोटिस जारी किया था,जिसमें संतोषजनक जवाब न मिलने पर सभी के ऊपर आरोप सिद्ध पाया गया।जिन्हें एडीओ पंचायत के संस्तुति पर शुक्रवार को जिला पंचायत राज अधिकारी ने सुमेर यादव, कान्हालाल यादव,नंदलाल चौहान, संदीप वर्मा, वीरवन्त प्रसाद,तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया।इस कार्यवाही के बाद पूरे विकासखंड में हड़कम्प मच गया है।विकासखंड के 63 गांवों में तैनात 159 सफाई कर्मचारी अपने मनमानी से बाज नहीं आ रहे हैं, नौकरी के नाम पर यह हाथ में झाड़ू या फावड़ा उठाना नहीं चाहते,ऊपर से जब अधिकारियों के द्वारा इनके उपर कार्यवाही की जाती है तो यह धरना प्रदर्शन, आन्दोलन व या पैरवी करवाकर अपना गोटी सेंट कर लेते हैं।और अधिकारी भी लाचार होकर उनकी वाली कर देते हैं।सवाल यह है कि जब नेतागिरी ही करना था तो सफाई कर्मी क्यों बने और बने तो अपना ड्यूटी करने में गुरेज क्यों, गांव की गलियां बजबजा रही है और नाली ओवरफ्लो होकर सड़क पर गंदा पानी बह रहा है लेकिन यह सफाई कर्मी रसूखदार हैं नाली साफ नही करेंगे ऊपर से एडीओ पंचायत व जिला पंचायत राज अधिकारी के ऊपर बेजा दबाव बनाते हैं।