निराश्रित बुजुर्गो को भरणपोषण का लाभ दिलाए जाने में निभायें अपनी भूमिका
कमलाकर मिश्र की रिपोर्ट
देवरिया - उप जिलाधिकारी रुद्रपुर संजीव कुमार उपाध्याय ने बताया है कि प्रभुनाथ यादव पुत्र चांद यादव निवासी ग्राम सेहुड़ा थाना मदनपुर द्वारा यह प्रार्थना पत्र प्रस्तुत किया गया कि उसे लडके विजय बादुर, सर्वेश, सतेन्द्र, राहुल, वसन्त, जितेन्द्र व लालू द्वारा भरणपोषण नही किया जा रहा है। आवेदन पत्र सुलह अधिकारी रुद्रपुर फणीन्द्र नाथ पाण्डेय से आख्या प्राप्त करने के पश्चात भरणपोषण अधिकरण से 7000 रुपया प्रति माह भरण पोषण दिलाये जाने का आदेश पारित किया गया, जिसके क्रम में आवेदक प्रभुनाथ यादव को भरण पोषण की धनराशि उसके पुत्रो से प्राप्त हो रही है। उपजिलाधिकारी श्री उपाध्याय ने यह भी बताया कि प्रत्येक माह के प्रथम सप्ताह में आवेदक के 7 पुत्रों द्वारा 1000 की दर से 7000 की धनराशि फरियादी के खाते में जमा कराने का आदेश दिया गया है। प्रभुनाथ यादव द्वारा बताया गया कि समय से उसके खाते में धनराशि आ जा रही है। जिलाधिकारी द्वारा यह लगातार पर्यवेक्षण किया जा रहा है कि जनपद में कोई भी वृद्ध अपने पुत्रों द्वारा निराश्रित न छोडा जाय। सभी वृद्धों को विधिक सहायता उपलब्ध कराने हेतु प्रत्येक तहसील में सुलह अधिकारी की भी नियुक्ति शासन द्वारा की गयी है, जो ऐसे वृद्धजनो को सहायता उपलब्ध कराने की पहल करतें है। जिलाधिकारी ने कहा है कि वृद्धजन के भरणपोषण के लिए संचालित इस योजना का लाभ ऐसे बुजुर्ग व निराश्रित जनो को उपलब्ध कराने में संबंधित अधिकारी भी अपनी संक्रिय भूमिका निभायें। प्रयास हो कि कोई भी वृद्ध निराश्रित की स्थिति में न हो, उन्हे उनके पुत्रों से भरणपोषण लाभ दिलाने में अपनी भूमिका निभाएं।