लड़कियां सामने आने वाली चुनौतियों का डट कर करें मुकाबला- डॉ सुधा त्रिपाठी*
जयंत यादव गाजीपुर
आज अन्तर्राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर गोपीनाथ पीजी कालेज में एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया। इस अवसर पर छात्राओं को सम्बोधित करती हुईं कालेज प्राचार्य डॉ सुधा त्रिपाठी ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य महिलाओं के सामने आने वाली चुनौतियों और उनके अधिकारों के संरक्षण के बारे में जागरूकता पैदा करना है। यह दिन इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि यह लिंग-आधारित चुनौतियों को समाप्त करता है जिसका सामना दुनिया भर में लड़कियां करती हैं, जिसमें बाल विवाह, उनके प्रति भेदभाव और हिंसा शामिल है। आगे उन्होंने छात्राओं से उनके सामने आने वाली चुनौतियों का डट कर सामना करने की बात कही। एनएसएस कार्यक्रम अधिकारी डॉक्टर अंजना तिवारी ने एनएसएस छात्राओं को सभी नियमों का पालन करने के साथ ही समाज में पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलने की बात कही, उन्होंने कल्पना चावला, रानी लक्ष्मी बाई, प्रतिभा पाटिल जैसी महिलाओं का उदाहरण देते हुए उनके जैसा बनने और अपने अंदर आत्मविश्वास जगाने पर बल दिया। इस अवसर पर विजयलक्ष्मी तिवारी, प्रतिमा पांडेय, इन्द्रावती, संध्या, गीतांजली, अनिता पाल, चन्द्रमणि पांडेय, सईदुज़्ज़फर आदि के अतिरिक्त बड़ी संख्या में छात्राएं उपस्थित रहीं।