संचारी रोग नियंत्रण अभियान की समीक्षा बैठक संपन्न
कमलाकर मिश्र की रिपोर्ट
देवरिया -जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने विकास भवन के गांधी सभागार में कल से संचालित हो रहे दस्तक एवं संचारी रोग नियंत्रण अभियान की समीक्षा किया। उन्होने कहा कि संचारी रोग तथा दिमागी बुखार पर प्रभावी नियंत्रण एवं सही उपचार सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। उन्होने बताया कि कल से यह अभियान शुरु हो रहा है। उन्होने कहा कि चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग संबंधित विभागो से समन्वय बनाकर इन रोगो पर सफलतापूर्वक नियंत्रण हेतु प्राथमिकता के साथ कार्यवाही करना सुनिश्चित करें। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही पाए जाने पर संबंधित के विरुद्ध जिम्मेदारी तय करते हुए कडी कार्यवाही की जायेगी। इस दौरान जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया कि जनपद, तहसील, ब्लाक एवं ग्राम स्तर पर विभागीय अधिकारियों के साथ समन्वय स्थापित करते हुए अभियान संचालित करें साथ ही इस अभियान के दौरान बुखार, इंफ्लुएंजा लाइक इलनेस, क्षय रोग तथा कुपोषित बच्चों के प्राप्त सूची के अनुसार रोगियों का उपचार तथा अभियान की मानिटरिंग, पर्यवेक्षण, रिपोर्टिंग भी कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने महेन, भाटपाररानी, पथरदेवा, लार, बैतालपुर, देसही देवरिया व अरबन देवरिया का माइक्रोप्लान अधूरा पाए जाने पर उन्होने असन्तोष व्यक्त करते हुए संबंधित एमओआईसी का वेतन बाधित करते हुए स्पष्टीकरण जारी करने का निर्देश मुख्य चिकित्साधिकारी डा आलोक पाण्डेय को दिया। उन्होने कहा कि यथाशीघ्र माइक्रो प्लान तैयार कर अभियान को सफलतापूर्वक संचालित कराएं। उन्होने कहा कि बैनर, पोस्टर, रिपोर्टिंग, फॉर्मेट, टैली शीट, आशा ट्रेनिंग, सुपरविजन, संसाधन, समीक्षा डेली होना चाहिए तथा उन्होने रिसोर्सिंग, सुपररवाइजर की तैनाती के बारे में जानकारी प्राप्त करते हुए आवश्यक निर्देश दिए। बैठक में सीएमओ डा आलोक पाण्डेय, परियोजना निदेशक, जिला कार्यक्रम अधिकारी कृष्णकान्त राय, बीएसए, खण्ड विकास अधिकारी सहित संबंधित विभागो के अधिकारी गण उपस्थित रहे।