विवाहिता का शव फांसी के फन्दे पर लटकते हुए मिला
कमलेश कुमार की रिपोर्ट।
गाजीपुर-दिलदारनगर थाना क्षेत्र के दिलदारनगर गांव के कुशवाहा कालोनी वार्ड नंबर-10 निवासी धीरेंद्र कुशवाहा प्रयागराज में रहकर लोको पायलट की तैयारी कर रहा है। उसकी पत्नी चांदनी परिवार के साथ ससुराल में रहती थी। उसके पिता रामनगीना कुशवाहा ने बताया कि बहू चांदनी कुशवाहा (28) रोज की तरह गुरुवार की देर शाम हम लोगों को भोजन कराने के बाद अपने कमरा में सोने के लिए चली गई। शुक्रवार की सुबह जब काफी देर बाद भी वह कमरा से बाहर नहीं आई तो पत्नी के साथ कमरा के पास पहुंचा। दरवाजा खोला तो देखा कि वह पंखा की कुंडी में रस्सी के सहारे लटक रही थी। तत्काल पुलिस के साथ ही मायके वालों को घटना की जानकारी दी गई। उधर मायके पहुंची मृतका की मां स्वीकृति देवी ने ससुराल पक्ष पर दहेज में मोटर साइकिल मांगने को लेकर पुत्री को प्रताड़ित करने का आरोप लगाया। मालूम हो कि चांदनी की शादी 28 अप्रैल 2018 को हुई थी। उसने दो बच्चों को जन्म दिया था, जिनका निधन हो गया था। घटना को लेकर लोगों में तरह-तरह की चर्चा होती रही। इस संबंध में थाना प्रभारी निरीक्षक कमलेश पाल ने बताया कि मृतका की माता स्वीकृति देवी की तहरीर पर ससुराल पक्ष के पति, ससुर, देवर तथा दो ननद सहित पांच के खिलाफ दहेज हत्या का मुकदमा पंजीकृत किया गया है। तहसीलदार सेवराई की उपस्थित में पंचनामा कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्यवाही की जाएगी ।