डीएम और एसपी ने 'ग्राम समाधान दिवस' पर किया औचक निरीक्षण प्रगति पर जताया संतोष
कमलाकर मिश्र की रिपोर्ट
देवरिया - जिलाधिकारी की अभिनव पहल पर आयोजित प्रथम 'ग्राम समाधान दिवस' में ग्रामीणों का भारी उत्साह देखने को मिला। ग्रामीणों ने बड़ी संख्या में आवेदन कर अपनी समस्याओं का स्थानीय स्तर पर समाधान प्राप्त किया।जिलाधिकारी ने प्राप्त शिकायतों का समयबद्ध और गुणवत्तापूर्ण निस्तारण करने का निर्देश दिया। ग्राम समाधान दिवस के क्रियान्वयन को परखने के लिए जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन और पुलिस अधीक्षक डॉ श्रीपति मिश्र सदर ब्लाक के घटैला गाजी गांव पहुंचे। वहां उपस्थित लोगों को संबोधित करते देते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि 'प्रशासन जनता के द्वार' ग्राम समाधान दिवस की मूल भावना है। प्रदेश सरकार की मंशा है कि प्रशासन जनता से जुड़े और उनके समस्याओं का समाधान करें। यह योजना उसी संकल्पना को क्रियान्वित करती है। ग्राम स्तर के अधिकांश समस्याएं राजस्व पुलिस और पंचायती राज विभाग से संबंधित होती है। इन सभी विभागों के अधिकारी मंगलवार को ग्राम पंचायत में एक जगह उपस्थित मिलेंगे और जनता की समस्याओं का समाधान करेंगे। ग्रामवासी कई छोटे-छोटे कार्यो के लिए तहसील, ब्लाक और जनपद मुख्यालय जाते हैं, जिससे उनका समय और धन दोनों खर्च होता है। जिस स्तर का काम होगा समाधान भी उसी स्तर पर हो, इस योजना का मूल आधार है। ग्राम स्तर के काम के लिए कहीं अन्य चक्कर लगाने की आवश्यकता नहीं होगी। ग्राम स्तर की अधिकांश समस्याओं का समाधान ग्राम समाधान दिवस में हो जाएगा जिससे उनका धन और समय दोनों बचेगा। जिलाधिकारी ने बताया कि आज जनपद के 16 ब्लॉक के 160 ग्राम पंचायतों में ग्राम समाधान दिवस का आयोजन हुआ। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक डॉक्टर श्रीपति मिश्र ने कहां की ग्राम समाधान दिवस पर ग्राम प्रशासन के सभी उत्तरदायी अधिकारी एक साथ उपलब्ध रहेंगे। कई तरह के प्रमाणपत्र यहीं मिल जाएंगे। जमीन जायदाद के विवादों का हल सभी हितधारकों की मौजूदगी में बातचीत के माध्यम से हो जाएगा। शस्त्र लाइसेंस और चरित्र सत्यापन जैसे कार्य भी स्थानीय स्तर पर हो जाएंगे। ग्राम समाधान दिवस से पारदर्शिता में वृद्धि होगी और भ्रष्टाचार में भी कमी आएगी। साथ ही शासन की योजनाओं का लाभ अधिकतम लोगों तक पहुंचेगा। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि ग्राम समाधान दिवस की सफलता जनता की भागीदारी पर निर्भर करती है। उन्होंने जनता से रोस्टरवार अपने ग्राम समाधान दिवस के दिन भागीदारी निभाने की अपील भी की। इससे पूर्व ग्राम घटैला गाजी में प्रधान उषा सिंह, ग्राम विकास अधिकारी सिराजुल अहमद, तकनीकी सहायक नागेंद्र मिश्रा, लेखपाल संजय सिंह, आशा अखिलेशा, सरिता तिवारी, आंगनबाड़ी कार्यकत्री अमरावती देवी, कोटेदार ललिता देवी, सफाई कर्मचारी संतोष, ग्राम रोजगार सेवक छोटे लाल यादव, बीट पुलिसकर्मी सहित अन्य कई कर्मी एक साथ उपस्थित होकर ग्रामीणों की समस्याओं का समाधान करते दिखे, जिस पर जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक ने सन्तोष व्यक्त किया। तदोपरांत जिलाधिकारी ने ग्राम घटैला खुर्द में निर्माणाधीन पंचायत भवन एवं आंगनबाड़ी केंद्र का भी स्थलीय निरीक्षण किया। इस अवसर पर पुलिस उपाधीक्षक श्रेयस त्रिपाठी, तहसीलदार सदर आनंद नायक, बीडीओ सदर ब्लॉक कृष्णकांत राय सहित विभिन्न अधिकारी मौजूद थे। जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक ने घुड़ीकुण्ड खुर्द ग्राम का किया औचक निरीक्षण- जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन एवं पुलिस अधीक्षक डॉक्टर श्रीपति मिश्र ग्राम समाधान दिवस के क्रियान्वयन को देखने विकास खण्ड पथरदेवा के ग्राम पंचायत घुड़ीकुण्ड खुर्द पहुंचे। अधिकारी द्वय ने वहां उपस्थित लोगों को योजना से संबंधित जानकारी दी और लोगों से अधिक से अधिक संख्या में इस योजना का लाभ उठाने की अपील की। इस अवसर पर खण्ड विकास अधिकारी आलोक दत्त उपाध्याय,नायाब तहसीलदार, ग्राम पंचायत सचिव आशुतोष मिश्रा, चकबंदी लेखपाल, राजस्व लेखपाल, स्वास्थ विभाग, खण्ड विकास अधिकारी, थाना प्रभारी बघौचघाट, बाल विकास परियोजना अधिकारी, खण्ड शिक्षा अधिकारी, अतिरिक्त कार्यक्रम अधिकारी व जन सेवा केंद्र के कर्मचारी मौजूद रहे।