भारी बारिश के बाद बाढ़ से तराई के हालात हुए खराब
बिछिया बहराइच से अभयजीत प्रजापति की रिपोर्ट बिछिया/ बहराइच- नेपाल के पहाड़ों पर हुई भारी बरसात के बाद उत्तर प्रदेश के बहराइच और लखीमपुर के मैदानी क्षेत्र में भारी तबाही देखने को मिली है। किसानों की फसल पर बहुत बड़ा बुरा असर पड़ा है। जिन लोगों के धान कट चुके थे अब वह या तो बह चुके हैं या फिर सड़ रहे हैं। उनकी मेहनत पर पानी फिर चुका है। गिरवा,महाना, भादा और कौड़ियाला नदी ने मात्र 2 दिनों के अंदर सुजौली थाना क्षेत्र के आधा दर्जन गांवों के अंदर देखते ही देखते नाव चलाने पर मजबूर कर दिया है। जैसा कि हर बाढ़ में होता है ठीक उसी तरह लाई ,चना,तिरपाल के साथ प्रशासन मौजूद है। एनडीआरएफ की टीम बचाव कार्य में जुटी हुई है। सड़कें कट चुकी है। रेल लाइन भी कई स्थानों पर कट चुकी है। पटरियों के ऊपर से पानी बह रहा है। सत्ता पक्ष और विपक्ष के प्रत्याशी बाढ़ क्षेत्र का राजनीतिक पर्यटन कर रहे हैं और एक दूसरे पर दोषारोपण कर रहे हैं । फिलहाल तराई क्षेत्र के लोग बर्बादी की कगार पर जा पहुंचे हैं । अब आगे भगवान ही मालिक है।