नाबालिक के साथ दुष्कर्म के बाद हत्या के मामले में एक को आजीवन कारावास
गुड्डू यादव की रिपोर्ट।
गाज़ीपुर । न्यायाधीश पाक्सो प्रथम विष्णु चंद्र वैश्य की अदालत ने गुरुवार को नाबालिक पीड़िता के साथ दुष्कर्म कर हत्या कर देने के मामले में थाना गहमर गांव देवल के गनेस चौधरी को आजीवन कारावास व 52 हजार रुपये के अर्थदंड से दण्डित किया है अभियोजन के अनुसार थाना गहमर गांव देवल के रामअवध चौधरी ने 2 दिसबंर 2015 को थाने में तहरीर दिया कि उसकी नाबालिक बहन दो दिन पहले से घर से गायब है तलाश करना सुरु किया तब पता चला कि पड़ोस के गनेश चौधरी के घर ताला बंद है और वो भी लापता है गनेश से उसकी पुरानी रंजिश चली आ रही थीं उसी रंजिश के वजह से मेरी मेरी बहन को अपनी जाल में फसा लिया था और जाल में फसा कर उसकी हत्या कर दी तहरीर के आधार पर आरोपी के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने दौरान विवेचना आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायालय पेश की जहाँ से आरोपी को जेल भेज दिया गया पुलिस ने विवेचना उपरांत आरोपी के विरुद्ध न्यायालय में आरोप पत्र प्रेषित किया दौरान विचारण अभियोजन की तरफ से विशेष लोक अभियोजक प्रभुनारायण सिंह ने कल 11 गवाहों को पेश किया दोनो तरफ की बहस सुनने के बाद न्यायालय ने उपरोक्त फैसला सुनाया ।