दूसरी बार जिलाधिकारी को सौंपा ज्ञापन
गुड्डू सिंह यादव सदर रिपोर्टर गाजीपुर
गाजीपुर-प्रदेश सरकार द्वारा पंचायत सहायक पद के लिए सर्वाधिक अंक पाने वाले का कम्प्युटर पद पर चयन किया जाने का आदेश को स्थानीय बिकास खंड जखनियां के नेवादसानी मेंहदीपुर गाँव सभा मे पंचायत कंप्यूटर ऑपरेटर की चयन प्रक्रिया में ग्राम विकास अधिकारी द्वारा अपने निजी स्वार्थ सिद्ध करते हुए शासन के सभी मानको को दरकिनार करते हुए गांव के ही अपात्र अभ्यर्थी का चयन किया जाने की खबर से गाव के लोगो मे आक्रोश फैल गया। जब मुख्यमंत्री जी के शासनाआदेश में जिक्र किया था किसी परिवार का कोरोना काल में अगर किसी की माता व पिता में से एक व्यक्ति की मृत्यु हुई हो तो वह व्यक्ति अपने माता या पिता कोरोना काल में हुई मृत्यु का प्रमाण पत्र लगाता है तो उसे उस शासनादेश के अनुसार उसे पहले स्थान दिया जाएगा लेकिन यहाँ तो वैसा नहीं हुआ उस आदेश का ही उल्लघन किया गया है ग्राम विकास अधिकारी ने जो पूरी तरह से फर्जी बाड़ी का रूप देकर पात्र अभ्यर्थी की पत्रावली को रोके जाने की जानकारी पर पात्र अभ्यर्थी द्वारा समस्त पत्रावली व ग्राम प्रधान द्वारा आवेदन की रिसिविंग प्रमाण पत्र के साथ शिकायती पत्र जिलाधिकारी को पत्र दिया गया ।जिसमे चयन प्रक्रिया में की गई धांधली की जांच करने के साथ ही संबंधित ग्राम विकास अधिकारी के ऊपर करवाई करने की मांग की गई।गौरतलब हो कि नेवादसानी गांव के अभ्यर्थी अरविंद यादव ने अपना समस्त प्रमाण पत्र के साथ पत्रावली निर्धारित तिथि से पहले ही खण्ड विकास अधिकारी कार्यालय जखनिया में जमा कर दिया था उसकी रिसिविग अपने पास रखा हुआ है।संबन्धित पत्रावली को समय से पूर्व ही दे दी गई थी। इनके स्थान पर गांव के ही अपात्र व्यक्ति का चयन किया है। विकास,अधिकारी डीपीआरओ व जिलाधिकारी को पूरे प्रकरण की जानकारी देकर जांच करने की मांग की गई है। बताया कि शिकायतकर्ता के प्रकरण की पूरी जानकारी है।जांच में दोषी पाए जाने पर कार्रवाई होना तय है।