सपाइयों ने किया धरना प्रदर्शन
कृपाशंकर यादव
ग़ाज़ीपुर । लखीमपुर में आंन्दोलनरत किसानों को केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्रा के पुत्र आशीष मिश्रा द्वारा गाड़ी से रौंदने और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष माननीय अखिलेश यादव जी को आज सुबह गिरफ्तार किये जाने पर आक्रोशित समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने ‌दंभी एवं दमनकारी भाजपा सरकार के खिलाफ जिलाधिकारी गाजीपुर के मुख्य गेट पर धरना देकर उत्तर प्रदेश की योगी सरकार को बर्खास्त करने, केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्रा को केन्द्रीय मंत्रिमंडल से बर्खास्त करने, केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्रा के पुत्र आशीष मिश्रा व उसके सहयोगियों के विरुद्ध हत्या का मुकदमा दर्ज कर उनको तत्काल गिरफ्तार करने,इस घटना में मारे गये किसानों को एक-एक करोड़ रुपए और घायल किसानों को दस-दस लाख रुपए की तत्काल आर्थिक मदद और तीनों काले कृषि कानूनों का तत्काल प्रभाव से निरस्त करने की मांग किया । इन मांगों से सम्बंधित 5सूत्रीय ज्ञापन महामहिम राज्यपाल के नाम से संबोधित जिलाधिकारी गाजीपुर को सौंपा ।इस धरने को संबोधित करते हुए विधायक डॉ वीरेंद्र यादव ने कल लखीमपुर में हुए किसानों के नरसंहार पर रोष व्यक्त करते हुए कहा कि देश और प्रदेश की मोदी और योगी की सरकार ने ब्रिटानी हुकूमत को भी शर्मिंदा कर दिया है । उन्होंने कहा कि इस सरकार में लोकतांत्रिक और संवैधानिक अधिकारों का लगातार हनन किया जा रहा है । योगी सरकार पूरी तरह से दमन पर उतारू हैं । यह सरकार लाठी,गोली और डंडे के बल पर किसानों की आवाज को दबाना चाहती है । योगी जी की ठोकों नीति के चलते किसानों को गाड़ी से रौंदा जा रहा है । यह सरकार पूरी तरह से गुंडागर्दी के रास्ते पर चल रही है । योगी जी और भाजपा के मंत्री गुंडो की भाषा बोल रहे हैं ।यह सरकार लोकतंत्र और संविधान का माखौल उड़ा रही है । यह सरकार पूरी तरह से संवेदनहीन है । धरती का भगवान कहे जाने वाले किसानों के साथ सरकार का जब यह सलूक है तो आम जनता के साथ इसका सलूक कैसा होगा इस बात की कल्पना की जा सकती है । जिलाध्यक्ष रामधारी यादव ने कहा कि भाजपा सरकार आंदोलनरत किसानों को कभी आतंकवादी ,कभी चंदाजीवी बताकर लगातार उन्हें अपमानित करने का काम कर रही है । किसानों को गाड़ी से रौंदा जाना घोर अमानवीय और क्रूर कृत्य है ।यह सरकार किसानों के आंदोलन से घबड़ाकर उनकी हत्या करने पर उतारू हो गयी हैं । यह सरकार अपना मानसिक संतुलन खो बैठी है । पूंजीपतियों के इशारे पर यह घिनौना और अमानवीय खेल खेल रही है योगी सरकार । यह सरकार पूरी तरह से किसान विरोधी है । पार्टी कार्यालय समता भवन से उतरकर जैसे ही जिलाध्यक्ष रामधारी यादव के नेतृत्व में कार्यकर्ता जिलाधिकारी कार्यालय की ओर बढ़े पुलिस ने बल प्रयोग कर उन्हें रोकने की पूरी कोशिश की मगर उन्हें रोकने में पूरी तरह असफल रहे । जिलाधिकारी कार्यालय के मुख्य गेट पर पहुंचकर कार्यकर्ताओं ने इंकलाबी नारा बुलंद करते हुए अपना आक्रोश व्यक्त किया और राष्ट्रीय अध्यक्ष माननीय अखिलेश जी को तत्काल रिहा करने की भी मांग किया ।इस विरोध प्रदर्शन में मुख्य रूप से पूर्व जिलाध्यक्ष राजेश कुशवाहा, सुदर्शन यादव, सुधीर यादव,डॉ नन्हकू यादव, महेंद्र चौहान,गोपाल यादव, अरुण कुमार श्रीवास्तव, दिनेश यादव,रामवचन यादव, सत्येन्द्र यादव सत्या, डॉ समीर सिंह,ओपी यादव, अभिषेक यादव, अरविंद यादव, अजीत विधायक,अमित ठाकुर, अहमर जमाल,जवाहिर यादव, कन्हैयालाल विश्वकर्मा,अमित सिंह लालू, विनोद पाल, सदानंद कन्नौजिया,तहसीन अहमद, चन्द्रिका यादव,राकेश यादव,अभिनव सिंह,रविन्द्र यादव,सुरज राम बागी,,भानु यादव, परशुराम बिंद, आमिर अली ,जगत मोहन बिंद, नन्दलाल यादव, कमलेश यादव, राहुल सिंह,अजय श्रीवास्तव, चन्द्रेश्वर यादव पप्पू,आत्मा यादव, नन्हें,विजय बहादुर यादव, दिनेश यादव ,छन्नू यादव, मटरू पहलवान, ओमकार यादव,विभा पाल, रीना यादव,नितिल यादव,आरिफ खान, सतपाल यादव, संदीप यादव, पप्पू यादव,बृजदेव खरवार, द्वारिका यादव, आदि उपस्थित थे । इस कार्यक्रम का संचालन जिला महामंत्री अशोक कुमार बिन्द ने किया ।