अयोध्या में दीपोत्सव की तैयारियां तेज जानिए क्या खास रहेगा इस बड़े आयोजन में*
अमित सिंह की रिपोर्ट ==============
अयोध्या =====में दीपोत्सव की तैयारियां शुरू हो गई है|इस बार 751000 दीपक राम की पैड़ी पर जलाने के लिए अवध विश्वविद्यालय के 12000 वॉलिंटियर्स प्रयासरत रहेंगे|पिछले साल के अपने ही बनाए कीर्तिमान को दोबारा से तोड़ने का प्रयास भी अवध विश्वविद्यालय करेगा, जिसके लिए 900000 दीपक की आवश्यकता होगी, 751000 दीपक राम की पैड़ी पर जलाया जाएंगे, वहीं डेढ़ लाख दीपक अयोध्या के प्राचीन मठ मंदिरों और कुंडो पर जलाया जाएंगे|इस बार का दीपोत्सव बेहद खास होगा क्योंकि इस बार दीपोत्सव 1 नवंबर से 5 नवंबर तक मनाए जाएंगे|जो दीपोत्सव का मुख्य कार्यक्रम होगा हनुमान जयंती के दिन 3 नवंबर से 1 दिन पहले मनाया जाएगा|दीपोत्सव कार्यक्रम का शुभारंभ 1 नवंबर से ही हो जाएगा|रामायण कांक्लेव का समापन 2 नवंबर को होगा टूर एंड ट्रेवल्स के मेहमान रहेंगे|पारंपरिक दीपोत्सव 3 नवंबर को मनाया जाएगा राम राज्याभिषेक शोभायात्रा निकलेगी|सरयू जी की भव्य आरती होगी|राम की पैड़ी पर 751000 दीप प्रज्ज्वलित होंगे|751000 दीपक 4 नवंबर को भी जलेंगे लेजर शो लाइटिंग होगी|5 नवंबर तक रोशनी से जगमग रहेंगी अयोध्या की गलियां और घाट| अवध विश्वविद्यालय के वालंटियर अलग परिधान में नजर आएंगे|32 घाटों पर 900000 दिए बिछाने की तैयारी है भगवान राम पुष्पक विमान से पहुंचेंगे अयोध्या, राम कथा पार्क में उनका अभिषेक किया जाएगा| अभिषेक के बाद पूरे अयोध्या में हेलीकॉप्टर से पुष्प वर्षा की जाएगी| अयोध्या में 1 नवंबर से रामायण कांक्लेव और रामायण शिल्प बाजार शुरू हो जाएगा|1 नवंबर की शाम से सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी आयोजन होगा|दीपोत्सव में भारत सरकार के पर्यटन मंत्री किशन रेड्डी भी शामिल होंगे इसके साथ ही केन्या और वियतनाम के एम्बेसडर भी इसके साक्षी होंगे| मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 3 नवंबर को दीपोत्सव में शामिल होने के लिए अयोध्या पहुंचेंगे|उनका हेलीकॉप्टर दीपोत्सव स्थल के निकट ही उतरेगा और राम कथा पार्क में राज्याभिषेक तथा राम की पैड़ी पर दीप प्रज्वलित कर दीपोत्सव की शुरुआत करेंगे|मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 3 नवंबर को आयोध्या में ही रात्रि विश्राम करेंगे| और अगले दिन सुबह हनुमान जयंती के मौके पर हनुमानगढ़ी में दर्शन पूजन कर गोरखपुर मठ के लिए रवाना होंगे|