सीडीओ ने ग्रामीण अभियंत्रण विभाग के समस्त अवर अभियन्ताओं के साथ की बैठक
कमलाकर मिश्न की रिपोर्ट
देवरिया-मुख्य विकास अधिकारी रवींद्र कुमार ने बुधवार को ग्रामीण अभियंत्रण विभाग के समस्त अवर अभियन्ताओं की बैठक की, जिसमें निर्देशित किया कि कोई भी अवर अभियन्ता, बिना समक्ष स्तर से अवकाश स्वीकृत कराये मुख्यालय से बाहर नहीं जायेगा तथा ग्रामीण क्षेत्रों में कराये जा रहे निर्माण कार्यों की मौके पर उसकी गुणवत्ता की जाँच के उपरान्त ही टी०एस० करेगा। उन्होने कहा कि यदि भविष्य में निर्माण कार्यों में किसी भी प्रकार की शिकायतें प्रकाश में आयी तो संबंधित अवर अभियन्ता की जिम्मेदारी तय कर कार्यवाही की जायेगी। साथ ही उन्होने निर्देशित किया कि जो अवर अभियन्ता मुख्यालय पर कार्यरत हैं, उन्हें कार्यालय अधिशासी अभियन्ता, ग्रामीण अभियंत्रण विभाग, द्वारा बनायी गयी भ्रमण पंजिका पर हस्ताक्षर के उपरान्त भ्रमण कर जायें। मुख्य विकास अधिकारी ने गोल्डेन कार्ड एवं ई-श्रम में रजिस्टेशन कम करने वाले जनपद के समस्त सी०एस०सी० संचालक की बैठक की, जिसमें निर्देशित किया कि यदि प्रगति नहीं बढ़ायी गयी तो उनकी आई०डी० बन्द कर दी जायेगी तथा सरकारी कार्य में लापरवाही बरतने के कारण प्राथमिकी सूचना दर्ज करायी जायेगी। मुख्य विकास अधिकारी ने विकास खण्ड-तरकुलवा का निरीक्षण कर अभिलेखों के रख रखाव एवं साफ-सफाई को देखा तथा अधूरे अभिलेखों को एक सप्ताह के भीतर पूर्ण करने का निर्देश दिया। तदोपरान्त उन्होने आयोजित ग्राम समाधान दिवस के अन्तर्गत विकास खण्ड-तरकुलवा के ग्राम पंचायत तरकुलवा का निरीक्षण किया। इस दौरान समाधान दिवस में 03 शिकायतें आयी थी जिसमें से दो शिकायतों का मौके पर ही समाधान कर दिया गया है तथा एक शिकायत नाली के संबंध में ग्राम सचिव को निर्देशित किया कि मौके पर जाकर जाँच कर इसका समाधान करायें। इसके उपरान्त ग्राम पंचायत-कंचनपुर में आयोजित ग्राम समाधान दिवस में प्रतिभाग किया, जिसमें पंजिका में 04 प्रकरण दर्ज किये गये थे जिसमें नाली निर्माण, परिवार रजिस्टर में नाम दर्ज कराने, वृद्धावस्था पेंशन बनवाने आदि की आवेदन पत्र आये थे जिसमें ग्राम सचिव को निर्देशित किया गया कि प्राप्त शिकायतों का गुणवत्तापूर्ण निस्तारण करते हुए रजिस्टर में दर्ज करायें।