कपिलवस्तु महोत्सव-2021 के दूसरे दिन स्क्वाड्रन लीडर तूलिका रानी ने “ऊंचाइयों की ओर नामक” प्रेरणादाई व्याख्यान व संवाद किया…
*रिपोर्ट - जय शंकर मिश्न की रिपोर्ट*
सिद्धार्थनगर – विश्व की सर्वोच्च चोटी माउंट एवरेस्ट पर सफल चढ़ाई करने वाली उत्तर प्रदेश की प्रथम महिला हैं। ईरान स्थित एशिया के सबसे ऊंचे ज्वालामुखी पर तिरंगा फहराने वाली प्रथम भारतीय महिला हैं। एवम देश विदेश में 23 पर्वतारोहण एवम ट्रैकिंग अभियान कर चुकी हैं। वह भारतीय वायु सेना में दस वर्ष कार्यरत रहते हुए हजारों भावी अधिकारियों को सैन्य प्रशिक्षण दे चुकी हैं, जिनमे भारत की प्रथम महिला फाइटर पायलट भी शामिल हैं। वह विश्व विख्यात प्रेरणादाई वक्ता एवम लेखिका हैं। अमेरिका, इटली, ब्रिटेन, बुल्गारिया आदि देशों में उनके 120 से अधिक भाषण हो चुके हैं। अब तक उन्हें 13 पुरुस्कारों द्वारा सम्मानित किया जा चुका है। जिसमे उत्तर प्रदेश द्वारा रानी लक्ष्मी बाई वीरता पुरस्कार, ग्लोबल वुमन पुरुस्कार, दिल्ली रत्न और मेरठ रत्न आदि शामिल हैं। ध्यान देने योग्य है कि तूलिका रानी जी भी एक एन०सी०सी० कैडेट थी, और रविवार के कार्यक्रम में प्रतिभाग करने वाले एन०सी०सी० कैडेटों को देख उन्हें अपने पुराने दिन याद आ गए, कार्यक्रमोपरांत उन्होंने श्री सिहेश्वरी इंटर कॉलेज तेतरी बाजार सिद्धार्थ नगर के एन०सी०सी० कैडेटों के साथ अपना अनुभव शेयर किया।