गाजीपुर जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पूर्व कैबिनेट मंत्री बाबू सिंह कुशवाहा
गुड्डू यादव की रिपोर्ट
गाजीपुर। पिछड़ा, दलित, अल्पसंख्यक समाज आजादी के बाद से ही संविधान में निहित अधिकारों से वंचित रहा। 90 प्रतिशत समाज शिक्षा के अभाव में अपने अधिकारों के प्रति जागरूक न होने से अपनी लड़ाई नही लड़ पाया। आज उस शोषित, वंचित समाज की हिस्सेदारी, भागीदारी के लिए संगठित हो कर 2022 में विधान सभा चुनाव में लड़ाई लड़नी होगी उक्त बाते बाबू सिंह कुशवाहा (पूर्व मंत्री एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष जन अधिकार पार्टी) ने जन अधिकार पार्टी के तत्वाधान में पिछड़ा दलित अल्पसंख्यक भाईचारा सम्मेलन, लंका मैदान गाजीपुर में मुख्य अतिथि के रूप में बोलते हुए कहा। कि वर्ष 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव अभियान की शुरूआत गाजीपुर की धरती लंका मैदान से किया जा रहा है । , जन अधिकार पार्टी का नारा है “जिसकी जितनी संख्या भारी उसकी उतनी हिस्सेदारी” व “गरीब हो या धनवान सबको शिक्षा एक समान” के नारे के साथ नयी कृषि नीति (03 काले कानून) जो किसानों के हित में नहीं है, उसे हम उत्तर प्रदेश में लागू नही होने देगें तथा किसानों के लिए सरकार द्वारा विशेष व्यवस्था लागू किये जाने के साथ किसानों के फसलों का दाम स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट के मुताबिक करके कृषि को व्यापार की कटेगरी में लाकर 70 प्रतिशत किसानों को खुशहाल बनाकर देश की गिरती अर्थव्यवस्था को लाभ में बदलना तथा गरीब मजदूर शोषित, वंचित समाज को विकास की मुख्य धारा में लाना पार्टी का मुख्य एजेण्डा है ।सभा को संबोधित करते हुए जन अधिकार पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव (महिला प्रकोष्ठ) सुषमा मौर्या ने कहा कि देश की सभी पार्टियां आज तक महिलाओं का वोट तो लेती हैं किन्तु हक व हिस्सा नहीं देती है। जन अधिकार पार्टी अपने नारे “जिसकी जितनी संख्या भारी उसकी उतनी हिस्सेदारी” के आधार पर महिलाओं की आबादी 50 प्रतिशत हक व हिस्सा देने का काम करेगी। जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य अजीत प्रताप कुशवाहा ने कहा कि संविधान लागू हुए 71 वर्ष हो गये लेकिन 71 वर्ष बाद भी दलित,पिछड़ा व अल्पसंख्यक को संविधान द्वारा प्रदत्त अधिकार नहीं मिला। जन अधिकार पार्टी की सरकार आपने बना दी तो संविधान को अक्षरशः लागू कराया जायेगा। पटेल विजय नारायण वर्मा कार्यक्रम प्रभारी व प्रदेश उपाध्यक्ष जन अधिकार पार्टी उ०प्र० के सम्मेलन में आये हुए पिछड़ा, दलित अल्पसंख्यक वर्गों के प्रतिनिधियों का स्वागत, व अभिनंदन व्यक्त करते हुए कहा कि संविधान ही शोषितों वंचितों को अधिकार और न्याय दिलाने का माध्यम है परन्तु आज वर्तमान सरकार अपने कियाकलापों के द्वारा बदलने की कोशिश कर रही है जो इस देश के शोषितों वंचितों के हक में नहीं है।सभा की शुरुआत होने से पहले मंच पर स्वागत के रूप में योगेंद्र कुशवाहा (प्रधान) ने चादी का मुकुट पहना कर सम्मान किया । वही सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष बृजेश राजभर ने पार्टी की सदस्यता लेते हुए गदा और चादी का मुकुट भेट किया। जिलाउपाध्यक्ष विमलेश कुशवाहा ने तलवार भेट कर सम्राट अशोक का भारत बनाने की संकल्प लिया।