खनन राजस्व की वसूली में लापरवाही क्षम्य नहीं-डीएम
कमलाकर मिश्न की रिपोर्ट
देवरिया -जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने गूगल मीट के माध्यम से खनन विभाग की मासिक समीक्षा की। मासिक समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने कम राजस्व वसूली पर गहरी नाराजगी व्यक्त की और इस संबंध में देवरिया सदर, सलेमपुर और भाटपार रानी के तहसीलदार से स्पष्टीकरण तलब किया है। उन्होंने कहा कि राजस्व वसूली में किसी भी प्रकार की लापरवाही क्षम्य नहीं है। जिलाधिकारी ने बताया कि ईंट-भट्टो को कुल 65 आरसी जारी हुई है, जिसके अंतर्गत कुल 79,26,712 रुपए की वसूली होनी थी। इसके सापेक्ष महज 4,63,182 हुई है, जो लक्ष्य से बहुत कम है। इसकी जवाबदेही तय करते हुए कम प्रगति वाले तहसीलदारों को स्पष्टीकरण तलब किया गया है।जिलाधिकारी ने खनन विभाग को सात दिन के भीतर शेष धनराशि ईंट-भट्टो से वसूलने का निर्देश दिया है। जिलाधिकारी ने बालू भंडारण दुकानों के पंजीकरण, बालू खनन, मिट्टी के खनन संबंधित विभिन्न कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि ऑनलाइन भुगतान हेतु जनपद के सभी ईट-भट्टों की यूजर आईडी और पासवर्ड 15 दिसंबर तक अनिवार्य रूप से बन जानी चाहिए।जिलाधिकारी ने बैठक के दौरान अवैध बालू खनन के विरुद्ध अभियान तेज करने का निर्देश दिया। समीक्षा बैठक के दौरान सीआरओ अमृत लाल बिंद, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट/एसडीएम गुंजन द्विवेदी, एसडीएम ध्रुव कुमार शुक्ला, एसडीएम सौरभ सिंह, खनन अधिकारी अर्जुन सहित विभिन्न अधिकारी मौजूद थे।