विधानसभा चुनाव को लेकर किसी भी राजनीतिक दल ने अभी तक नहीं खोले अपने पत्ते
विमल मिश्रा की रिपोर्ट
*आम जनमानस के साथ-साथ निघासन विधानसभा क्षेत्र से दावेदारों को भी बेसब्री से है टिकट की घोषणा का इंतजार लखीमपुर खीरी। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव अब ज्यादा दूर नहीं है।माहौल भी काफी कुछ चुनावमय नजर आने लगा है।जिनके दर्शन दुर्लभ थे,उनकी भी क्षेत्र में चहलकदमी बढ़ गयी है।अगर सब कुछ ठीक ठाक रहा तो आगामी फरवरी-मार्च माह में चुनाव हो सकते हैं।हो सकता है कि अगले माह दिसंबर में चुनाव की तारीखों का भी ऐलान हो जाये।लेकिन खास बात यह है कि अभी तक निघासन विधानसभा क्षेत्र में किसी भी राजनीतिक दल ने टिकट को लेकर अपने पत्ते नहीं खोले हैं।यही वजह है कि प्रमुख राजनीतिक दलों से टिकट की आस लगाए बैठे लगभग सभी दावेदार अपना-अपना टिकट पक्का मानकर क्षेत्र में सक्रिय नजर आ रहे हैं। भाजपा की बात करें तो टिकट के मुख्य दावेदारों में मौजूदा भाजपा विधायक शशांक वर्मा,आशीष मिश्रा "मोनू" और राज राजेश्वर सिंह का नाम ही अभी तक मुख्य रूप से चर्चा में है।इनमें से किसका टिकट फाइनल होगा अभी सिर्फ कयास ही लगाए जा सकते हैं।समाजवादी पार्टी से टिकट के दावेदारों की फेहरिस्त सबसे लंबी है।अभी तक जो मुख्य नाम सामने आए हैं उनमें हाल ही में बसपा छोड़कर सपा में आये बसपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष आर एस कुशवाहा, हिमांशु पटेल,सपा के पूर्व जिलाध्यक्ष अनुराग पटेल, इंजीनियर धनीराम मौर्य, मो,कय्यूम और अशोक कश्यप के नाम मुख्य रूप से चर्चा में हैं।उधर चार बार प्रदेश में अपनी सरकार बना चुकी बसपा से अभी तक किसी भी दावेदार का नाम प्रमुखता से उभरकर सामने नही आया है।थोड़ी बहुत चर्चा विकास अग्रवाल के नाम को लेकर जरूर है।लोगों का मानना है कि वह बसपा के टिकट पर निघासन विधानसभा से अपनी किस्मत आजमा सकते हैं।कांग्रेस की बात करें तो अभी तक दो नाम ही उभरकर सामने आए हैं।क्षेत्र में इनकी होर्डिंग भी नजर आ रही हैं।इनमें एक नाम श्रीमती ऊषा दीक्षित का है और दूसरा नाम पंडित मोहनचंद उप्रेती का है।कांग्रेस से दो बार यहां से विधायक रहे सतीश अजमानी का नाम भी टिकट के दावेदारों में शामिल कर लें तो यह संख्या तीन तक पहुंच जाती है।वैसे प्रियंका गाँधी के महिलाओं को यूपी चुनाव में ज्यादा टिकट दिए जाने के बयान के बाद श्रीमती ऊषा दीक्षित की दावेदारी को ज्यादा बल मिला है और उन्होंने क्षेत्र में अपनी सक्रियता भी बढ़ा दी है।