गन्ना का पिछला भुगतान न होने पे किसानों ने किया विरोध पर्दशन
बिछिया बहराइच से अभयजीत प्रजापति की रिपोर्ट
बिछिया/बहराइच: जनपद बहराइच के थाना सुजौली के अन्तर्गत ग्राम चफरिया, सुजौली , बरखड़िया,आम्बा, मटेही, कारीकोट के गन्ना किसानों ने गन्ना क्रय केंद्र चफरिया पर एकत्रित होकर चीनी मिल खम्भारखेड़ के कर्मचारी अरुण सिंह के समक्ष अपना रोष जताया है | उपरोक्त ग्रामों के समस्त गन्ना आपूर्ति कर्ता किसानों ने वर्ष 2020 -2021 में नानपारा चीनी मिल "समिति" द्वारा जारी उपरोक्त ग्रामों के गन्ना किसानों के नाम की गन्ना आपूर्ति पर्ची के माध्यम से गन्ना आपूर्ति किया ,जो गन्ना कई वर्षों से नानपारा चीनी मिल "समिति" द्वारा जारी गन्ना आपूर्ति पर्ची के माध्यम से, उपरोक्त ग्राम के गन्ना किसानों का गन्ना "केन कमिश्नर लखनऊ" के आदेशानुसार जनपद लखीमपुर स्थित खम्भारखेड़ा मिल में पेराई किया जाता है , कई वर्षों पहले इस खम्भारखेड़ा मिल ने इस क्षेत्र के किसानों का विश्वास जीतने के लिए इस क्षेत्र के किसानों के गन्ने का भुगतान समय से किया, किन्तु ज्यों ज्यों समय बीतता गया, त्यों त्यों खम्भारखेड़ा चीनी मिल ने इस क्षेत्र के गन्ना किसानों का भुगतान करने में "विलम्ब करने" का सिलसिला इस हद तक बढ़ा दिया कि इस क्षेत्र के किसानों को समय से गन्ना भुगतान न मिलने के कारण महाजनों और बैंक से लिए कर्ज के बढ़ते ब्याज के कारण भूखों रहने की नौबत आ गई, जिससे बचने के लिए आज अपने पिछले साल के बाकी गन्ना भुगतान को प्राप्त करने के लिए अरुण सिंह से खम्भारखेड़ा चीनी मिल के मालिक तक अपनी बात पहुचाने के उद्देश्य से सामूहिक रूप से वर्ष 2020-2021 में आपूर्ति किये गन्ने का भुगतान दिनाँक 30/11/2021 से पहले मिलने की मांग की, इस क्षेत्र के किसानों का कहना है कि जब पिछला पूरा बाकी गन्ना का भुगतान हम किसानों को प्राप्त हो जायेगा, इसके बाद हम किसान अब सात दिन के अन्दर हमारे द्वारा गन्ना आपूर्ति का भुगतान प्राप्त होने की "शर्त" पर गन्ना आपूर्ति करेंगे साथ में किसानो का आरोप है की जबरन किसानो से 100 रुपए गन्ना उतरवाई व 40 किलो गन्ना किसानो से लिया जाता है जिसका विरोध किसानो ने किया। कारीकोट,मटेही,रम्पुरवा,बर खड़ीया,सुजौली,चहलवा,चफरिया,आम्बा आदि के सैंकड़ों किसानो ने बजाज चीनी मिल के खिलाफ आवाज भी उठायी थी।इस दौरान किसान मीतपाल सिंह,बल्जीत विर्क,अन्ग्रेज सिंह,बलदेव सिंह,बिंदा सिंह,गुर प्रताप सिंह,गुरजन्त सिंह,गुरुवंत सिंह,गुर्मेल आदि शामिल रहे।