440 बोल्ट करेंट से स्पर्श हो जाने के कारण एक बालक की मौके पर ही मौत दूसरा भाई गंभीर रूप से झुलसा
कृपाशंकर यादव
गाजीपुर-गहमर थाना क्षेत्र के दिलदारनगर- भदौरा मार्ग स्थित भदौरा गांव के पास 440 बोल्ट करेंट से स्पर्श हो जाने के कारण एक बालक की मौके पर ही मौत हो गई।जबकि उसका भाई गंभीर रूप से झुलस गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम की विधिक कार्यवाही में जुट गई । जानकारी के अनुसार भदौरा गांव निवासी ओमप्रकाश राजभर मेहनत मेहनत मजदूरी कर अपने परिवार का भरण पोषण करता है।इनके पुत्र शिवम राजभर आयु 10 वर्ष और मुकेश राजभर आयु 14 वर्ष अपनी मां के साथ खेत में काम करने के लिए गए हुए थे। इसी दौरान दोपहर 2:00 बजे के आसपास खाना खाने के लिए घर आ रहे थे कि दरवाजे पर लगे खंबे के छरकी मे 440 बोल्ट का करंट प्रवाहित हो रहा था और बाल स्वभाव के कारण शिवम राजभर राजभर ने छरकी को हाथ का स्पर्श किया और गंभीर रूप से झुलस गया। बड़ा भाई उसे छुड़ाने गया तो वह भी करंट की चपेट में आ गया और वह भी झूलस गया।बच्चों का हो हल्ला सुनकर ग्रामीणों ने किसी तरह से लाठी से मार कर दोनों बच्चों को छरकी के तार से अलग किया। घटना के बाद मौके पर ग्रामीणों की भारी भीड़ जुट गई ।ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि रोड से गुजर रही बस मे फंस कर छरकी टूट कर जमीन पर गिर गया था जिसकी चपेट में आने से बालक की मौत हो गयी। आनन-फानन में ग्रामीणों द्वारा से बच्चे को उपचार हेतु एक निजी चिकित्सक के यहां ले जाया गया। जहां प्राथमिक उपचार के बाद बडे भाई को खतरे से बाहर बताते हुए घर भेज दिया। एक बच्चे की मौत होने पर परिवार सहित ग्रामीणों में कोहराम मच गया एवं शिवम प्राथमिक विद्यालय में कक्षा 3 का छात्र था। ग्रामीणों ने विभागीय अधिकारियों और पुलिस को सूचना देते हुए पीड़ित परिवार को आर्थिक मुआवजा की मांग की है