अमेरिका से सात समुंदर पार कर गाजीपुर आया करोना
रिपोर्ट गुड्डू यादव
गाजीपुर। पिछले कुछ महीनों से सुकून की सांस ले रहे जनपद के लोग एक बार फिर दहशत में हैं। क्योंकि अमेरिका से आए चार लोगों के साथ करोना फिर लौट आया है। इतना ही नहीं अमेरिका से लौटे कोरोना संक्रमित लोगों के संपर्क में आने वाले अन्य 19 लोगों की जांच के लिए सैंपल वाराणसी भेजा गया है। सभी को एकांत में सबसे अलग रखा गया है। देखा जाए तो पिछले कुछ महीनों से जनपद कोरोना संक्रमण से मुक्त हो गया था। यहां के लोग सुकून से जिंदगी जी रहे थे। बाजार से लेकर अस्पताल तक आम और खास लोग भी निडर होकर आ जा रहे थे। कोरोना से मिली क्षणिक निजात के कारण व्यापार एवं शिक्षा दोनों धीरे-धीरे पटरी पर लौट रहे थे। इसी बीच अचानक अमेरिका से लौटे चार लोग कोरोना संक्रमित मिले हैं। इससे स्वास्थ्य महकमा पूरी तरह सावधान हो गया है। आला अफसरों के निर्देश पर स्वास्थ्य महकमे ने सात समुंदर पार से जिले में आए सभी लोगों का स्वैब टेस्ट कराया गया। सबसे बड़ा डर यह है कि कोरोना के बाद दूसरे रूप में आए वायरस की पड़ताल के लिए सैंपल बीएचयू भेजा गया है। स्वास्थ्य महकमे की माने तो शहर के मोहल्ला निवासी एक परिवार अमेरिका के कैलिफोर्निया में रहता है। कोरोना संक्रमितों मैं पति-पत्नी और उनकी दो बेटियां शामिल हैंं। परिवार के लोग पिछले चार नवंबर को अमेरिका से हैदराबाद पहुंचा। वहां करीब 20 दिनों तक रुका। इसके बाद गाजीपुर लौटने से पहले एक निजी लाइफ में कोरोना की जांच कराई। इसके बाद गाजीपुर लौटने से पहले निजी लैब में कोरोना की जांच कराई। उनके गाजीपुर पहुंचने तक जांच रिपोर्ट भी आ चुके थी। इस रिपोर्ट में चारों लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। यह जानने के बाद सभी के होश उड़ गए। इसकी सूचना तत्काल स्वास्थ्य विभाग को दी गई। तब स्वास्थ विभाग की टीम ने उनके घर पहुंचकर संपर्क में आने वाले सभी लोगों की सैपलिंग शुरू की गई। इतना ही नहीं अमेरिकी परिवार के सदस्यों का एक बार फिर सैंपल लिया गया और जांच के लिए वाराणसी भेजा गया है। साथ में उनके टच में आने वाले 19 लोगों की भी सैंपलिंग कराई गई। इसके साथ उनके संपर्क में आने वाले 19 लोगों की भी सैंपलिंग हुई है। अब बीएचयू से रिपोर्ट आने का इंतजार है। इसके बाद ही लोगों के संक्रमण के बारे में पता चल सकेगा। रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर सभी को आइसोलेट कर उनका माकूत इलाज होगा।