अपने दायित्वों का सजगता से निर्वहन कर रहीं निघासन की प्रथम महिला एसडीएम श्रद्धा सिंह
विमल मिश्रा की रिपोर्ट
*दो माह पहले हुई है तैनाती, निघासन तहसील के सबसे बड़े प्रशासनिक पद पर तैनात होने वाली पहली महिला पीसीएस अधिकारी बनीं लखीमपुर खीरी। निघासन तहसील के सबसे बड़े प्रशासनिक पद पर पहली बार किसी महिला पीसीएस अधिकारी को पोस्टिंग मिली है।लगभग दो माह पहले श्रद्धा सिंह ने निघासन तहसील के एसडीएम के रूप में अपना कार्यभार संभाला है।इससे पहले वर्ष 2017 में महिला पीपीएस अधिकारी प्रीती त्रिपाठी बतौर प्रथम महिला सीओ के रूप में यहां का कार्यभार संभाल चुकी हैं।वर्ष 2009 में निघासन पुलिस सर्किल के अस्तित्व में आने के बाद यहां तैनात होने वाली वह पहली महिला पीपीएस अधिकारी थीं।उन्होंने भी मात्र डेढ़ माह के अपने अल्प कार्यकाल में अपनी बेहतर कार्यशैली का अहसास कराया था। अब तहसील का सबसे बड़ा प्रशासनिक पद पहली बार महिला पीसीएस अधिकारी श्रद्धा सिंह ने संभाला है।यहां तैनात रहे एसडीएम ओमप्रकाश गुप्ता के गैर जनपद स्थानांतरण के बाद लगभग दो माह पहले 26 अक्टूबर को पीसीएस अधिकारी श्रद्धा सिंह को निघासन तहसील में बतौर एसडीएम तैनाती मिली है।मात्र दो माह में ही उन्होंने पूरे क्षेत्र में अपने कुशल प्रशासनिक नेतृत्व की छाप छोड़ी है।उनकी कार्यशैली में संवेदनशीलता है,ईमानदारी है और न्यायप्रियता भी है।एक प्रशासनिक अफसर का यह रूप पूरे तहसील क्षेत्र की जनता के लिए गर्व का विषय है।वह जिस तरह से अपने कर्तव्यों का पूरी जिम्मेदारी,सक्रियता और सजगता से निर्वहन कर रही हैं,वह अपने आप में काबिल-ए-तारीफ है।अभी तक निघासन में शिक्षा विभाग के जितने भी कार्यक्रम हुए, उसमें आमंत्रित किये जाने पर उन्होंने समय निकालकर उन कार्यक्रमों में न केवल अपनी उपस्थिति दर्ज की बल्कि बच्चों को पूरी मेहनत व लगन से अपनी पढ़ाई पूरी करने के लिए प्रेरित भी किया।आने वाले चुनाव के मद्देनजर चलाये गए मतदाता पुनरीक्षण अभियान से जुड़े लोगों की बैठकें लेकर उन्हें मार्गदर्शन देने का मामला हो या आम जनमानस को मतदान करने के लिए प्रेरित करने का मामला हो,हर जगह उन्होंने अपनी कुशल प्रशासनिक क्षमता का अहसास कराया है।