मकर संक्रांति के उपलक्ष में बहराइच में साधु संतों की लगी भीड़
जानकी सिंह की रिपोर्ट
जनपद बहराइच के गुलाम अली पुरा मैं ओमप्रकाश मुरारी लाल द्वारा प्रत्येक वर्ष मकर संक्रांति के द्वारा विभिन्न देशों में से आए हुए साधु संतों को भोजन कंबल अचला बर्तन आदि दान करते हैं तथा मकर संक्रांति क्यों मनाई जाती है इस दिन दान पुणे क्यों किया जाता है जब सूर्य एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करता है उसे मकर संक्रांति कहते हैं जब सूर्य दक्षिण दिशा से उत्तरायण की ओर जाता है उसे मकर संक्रांति करते हैं इस इस पर्व पर हिंदू धर्म के रीति रिवाज के अनुसार यह पर्व मनाया जाता