प्रदेश में सीमा सड़क संगठन में कार्यरत सुभाष राम के पार्थिव शरीर पर पुष्प चक्र अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी गई
जिला प्रभारी राजीव कुमार पांडेय की रिपोर्ट
भांवरकोल । थाना क्षेत्र के फिरोजपुर में शनिवार को उप जिलाधिकारी आशुतोष कुमार तथा क्षेत्राधिकारी रविंद्र कुमार वर्मा एवं थानाध्यक्ष वागीश विक्रम सिंह ने प्रदेश में सीमा सड़क संगठन में कार्यरत सुभाष राम के पार्थिव शरीर पर पुष्प चक्र अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी इस अवसर पर पुलिस के जवानों ने सुख शस्त्र सलामी प्रस्तुत की। ताबूत से निकालकर कुछ समय तक सुभाष राम का पार्थिव शरीर लोगों के अंतिम दर्शन के लिए रखा गया तत्पश्चात लगभग 11:30 बजे उनकी सब यात्रा शुरू हुई जो सुभाष राम के पैतृक गांव फिरोजपुर से लगभग डेढ़ किलोमीटर दक्षिण गंगा घाट पर पहुंची, जहां एक बार फिर पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों व ग्रामीणों द्वारा उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि देने के पश्चात उनके बड़े पुत्र मनोज कुमार ने उन्हें मुखाग्नि दी। गौरतलब है कि फिरोजपुर निवासी सुभाष राम अपने चार भाइयों में सबसे छोटे थे । सीमा सड़क संगठन अरुणाचल प्रदेश में कार्यरत थे गत 12 जनवरी को सुबह उनके सीने में दर्द हुआ उनकी यूनिट के एम आई रूम में आक्सीजन सहित कुछ उपचार के बाद बेहतर इलाज के लिए मिलिट्री हॉस्पिटल टिंगाबिली ले गये जहां चिकित्सकों ने सुभाष राम को मृत घोषित कर दिया।उनके पार्थिव शरीर को लेकर विभागीय कर्मी पी एन आर नन्दकुमार शुक्रवार को आधी रात को उनके पैतृक गांव पहुंचे। सुभाष राम अपने पीछे पत्नी तारामुनी देवी तथा तीन पुत्र मनोज कुमार, विनय कुमार तथा लोकेश कुमार व पुत्र वधू स्नेहल राव आदि का भरापूरा छोड़ गये हैं। (बी आर ओ) मे कार्यरत सुभाष राम को अंतिम विदाई देने वालों में उप जिलाधिकारी आशुतोष कुमार, क्षेत्राधिकारी रविंद्र कुमार वर्मा, खंड विकास अधिकारी धर्मेंद्र कुमार, थानाध्यक्ष वागीश विक्रम सिंह,राजस्व निरीक्षक ज्ञानेन्द्र ओझा एकाउंटेंट ब्रह्मानन्द चतुर्वेदी के अलावा पूर्व विधायक सिबग्तुल्लाह अंसारी, पूर्व विधायक पशुपतिनाथ राय , गुलाब राम , रामाश्रय यादव, श्रीकांत राम ,सुरेश राम ,पिन्टू राम आदमी रहे। परिजनों ने की मांग- उप जिलाधिकारी आशुतोष कुमार के पहुंचने पर सुभाष राम के पुत्र विनय कुमार व अन्य ने स्वर्गीय सुभाष राम के नाम पर काली मंदिर से अनुसूचित बस्ती तक सड़क निर्माण व मुख्य द्वार बनाने के साथ ही उनका नामकरण भी सुभाष राम के नाम पर करने की मांग की। साथ ही मुख्यमंत्री सहायता कोष से भी कुछ सहयोग दिलाने का आग्रह किया । उप जिलाधिकारी ने यथासंभव इस संबंध में आवश्यक कदम उठाने का भरोसा दिया।