खबरदार ,होशियार ! आचार संहिता का उल्लंघन किया तो खैर नहीं
विमल मिश्र " विमल" की रिपोर्ट* *आचार संहिता का उल्लंघन करने वालों को बख्शने के मूड में नहीं दिख रहा पुलिस - प्रशासन
*अभियान चलाकर रातोंरात हटाये गए नुक्कड़, चौराहों और गांवों में लगे नेताओं के होर्डिंग बैनर
लखीमपुर खीरी। दो दिन पूर्व चुनाव आयोग द्वारा यूपी विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान करने और सूबे में आदर्श चुनाव आचार संहिता तत्काल प्रभाव से लागू हो जाने के बाद यहां का पुलिस-प्रशासन बेहद सख्त नजर आ रहा है।चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन करने वालों को पुलिस-प्रशासन बिल्कुल भी बख्शने के मूड में नहीं है।निघासन से सपा टिकट के दावेदार और पूर्व विधायक आर एस कुशवाहा के खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन और महामारी अधिनियम के अंतर्गत मामला दर्ज कर पुलिस-प्रशासन ने अपनी मंशा साफ कर दी है साथ ही औरों को इसके जरिये कड़ा संदेश भी दे दिया है।तहसील मुख्यालय से लेकर गांवों तक में लगे होर्डिंग बैनर भी अभियान चलाकर हटवा दिए गए हैं। चंद रोज पहले तक कस्बे से लेकर सभी नुक्कड़ चौराहों और यहां तक कि गांवों में भी हर जगह टिकट के दावेदारों के पोस्टर बैनर और होर्डिंग नजर आ रहे थे।लेकिन आचार संहिता लागू होने के बाद पुलिस-प्रशासन ने अभियान चलाकर रातोंरात सारे होर्डिंग बैनर हटवा दिए।यही नहीं आदर्श चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन को लेकर भी पुलिस-प्रशासन बेहद सख्त नजर आ रहा है।जनपद के निघासन विधानसभा क्षेत्र से सपा के टिकट के प्रबल दावेदार और पूर्व विधायक आर एस कुशवाहा के खिलाफ मामला दर्ज कर पुलिस-प्रशासन ने अपनी मंशा भी साफ कर दी है।इसके जरिये औरों को कड़ा संदेश भी दे दिया गया है कि अगर गड़बड़ की तो खैर नहीं।पुलिस-प्रशासन किसी को भी बख्शने के मूड में नहीं है।और चुनाव आयोग के दिशा-निर्देशों और मंशा के अनुरूप चुनाव आचार संहिता का अनुपालन कराने को पूरी तरह से सक्रिय और फॉर्म में नजर आ रहा है।उम्मीद है कि पुलिस-प्रशासन की यह सक्रियता आगे भी बनी रहेगी।